China Sandstorm News: Chinese City Dunhuang 300 Foot Gigantic Wall Of Sand Roads Close – चीन के शहर को ‘निगल’ गई 300 फुट ऊंची रेत की दीवार, देखें खौफनाक वीडियो


हाइलाइट्स

  • गोबी मरुस्‍थल से घिरे चीन में रेत के तूफानों के आने सिलसिला खत्‍म नहीं हो रहा है
  • दूनहआंग में 300 फुट ऊंची रेत की दीवार ने पूरे शहर को अपने आगोश में जकड़ लिया
  • हालत यह हो गई कि पूरा शहर ही दिखना बंद हो गया, आकाश नारंगी, सूरज छिपा

बीजिंग
गोबी मरुस्‍थल से घिरे चीन में रेत के तूफानों के आने सिलसिला खत्‍म नहीं हो रहा है। ताजा घटना में दूनहआंग शहर में 300 फुट से ज्‍यादा ऊंची रेत की दीवार ने पूरे शहर को अपने आगोश में जकड़ लिया। हालत यह हो गई कि पूरा शहर ही दिखना बंद हो गया। यह पूरा खौफनाक नजारा कुछ उसी तरह से था, जैसे आमतौर पर हॉलीवुड की फिल्‍मों में दिखाया जाता है। तूफान की वजह से आकाश नारंगी हो गया और सूरज छिप गया।

बताया जा रहा है कि रेत का यह महातूफान रविवार को गोबी के रेगिस्‍तान से उठा था। इस तूफान के वीडियो को सोशल मीडिया में शेयर किया गया है जिसे काफी शेयर किया जा रहा है। इसमें नजर आ रहा है कि जब तूफान शहर में घुसा तो ऊंची-ऊंची इमारतें भी दिखना बंद हो गई। रेतीला तूफान आने के बाद पुलिस ने सभी प्रमुख रास्‍तों को बंद कर दिया और लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी।

‘अचानक से आ गया रेतीला तूफान’

रेत की वजह से दृश्‍यता गिरकर 20 फुट तक पहुंच गई। साऊथ चाइना मॉर्निंग पोस्‍ट की रिपोर्ट के मुताबिक प्राचीन सिल्‍क रूट पर बसे इस शहर में रविवार को शाम तीन बजे यह तूफान आया। पास ही में स्थित एक पार्क में पर्यटकों को तूफान के बारे में कोई जानकारी नहीं थी और उनके सारे सामान धूल भरी आंधी में उड़ गए। यह पर्यटकों का दल मिंग्‍शा माउंटेन और क्रेसेंट लेक पार्क में गया था।

हालत यह हो गई कि पर्यटकों को रेत से बचने के लिए एक साथ इकट्ठा होना पड़ा और चश्‍मा तथा मास्‍क पहनना पड़ा। एक टूर गाइड ने बताया कि नीला आकाश देखकर हमें लगा कि खूबसूरत शाम देखने को मिलेगी लेकिन अचानक से रेतीला तूफान आ गया। उन्‍होंने कहा कि यह तूफान कुछ देर तक रहने के बाद शांत हो गया। बता दें कि चीन का यह शहर अपने खराब मौसम और जीवन स्‍तर के लिए जाना जाता है। यहीं पर यूनेस्‍को का विश्‍व विरासत स्‍थल भी है।



Source link

 89,126 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *